जयपुर 8 मार्च। राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के द्वारा  अपने तीसरे आम बजट 2016-17 में सिगरेट पर वर्तमान विशिष्ट वैट दरों में 15 प्रतिशत बढ़ोतरी की है। इसके लिए वायॅस ऑफ टोबेको विक्टमस ने आभार प्रकट किया है। वंही उन्होने बीड़ी पर भी वैट बढ़ाने की मांग पत्र देकर की थी।
वायॅस ऑफ टोबेको विक्टमस (वीओटीवी) के स्टेट पेटर्न डा.पवन सिंघल ने बताया कि राज्य सरकार को नियमित रुप से प्रदेश में बीड़ी, सिगरेट इत्यादि तंबाकू उत्पादों पर टैक्स बढ़ाने की मांग की जा रही थी। जिसके चलते राज्य सरकार ने बजट में सिगरेट पर वैट बढ़ाया है। जो कि सराहनीय है इससे प्रदेश में प्रतिवर्ष होने वाली मौतेंा और बढ़ते कैंसर पर कुछ रोक लगेगी।

उन्होने बताया कि देश में सिगरेट पीने से 3.5 लाख लोगों की मौत होती है वंही बीड़ी पीने से 5 लाख 80 हजार लोगों की मौत होती है। उन्होने बताया कि करीब 27.5 करोड़ भारतीय तंबाकू का सेवन करते हैं। ग्लोबल एडल्ट टोबेको के सर्वे के अनुसार भारत में तंबाकू की लत 17 साल की उम्र में लग जाती है। ग्लोबल यूथ टोबेको के सर्वे में सामने आया कि भारत के 20 प्रतिशत बच्चे तंबाकू के उत्पादों का प्रयोग करते हैं। 350 किशोर प्रति दिन तंबाकू का सेवन शुरु करते हैं। यह साबित हो चुका है कि कैंसर, हृद्वय रोग और हृद्वघात के रूप में प्रत्येक तीसरे व्यक्ति की अकाल मृत्यु तंबाकू सेवन के सेवन से हो रही है। 
डा.सिंघल बतातें है कि बीड़ी और सिगरेट के बट पर्यावरण और मनुष्य के लिए हानिकारक है। चिकित्सा जगत के शोध में सामने आया कि सिगरेट और बिड़ी के बट में 4 हजार तरह के रसायन होते है। इनमें 60 रसायनिक केमिकल ऐसे है तो सीधे कैंसर रोग को बढ़ावा देते है।
उन्होेने बताया कि पूर्व में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे व स्वास्थ्य मंत्री को वीओटीवी की और से ज्ञापन देकर तंबाकू उत्पादों पर टैक्स बढ़ाने की मंाग की गई थी।

एक टिप्पणी भेजें

Blogger द्वारा संचालित.