सेड़वा। पत्थरों में तब्दील हुई सड़के व सुखी हौदियों के मुद्दे छाये रहे बैठक में। - Do Kadam Ganv Ki Or

Do Kadam Ganv Ki Or

पढ़े ताजा खबरे गाँव से शहर तक

Recent Tube

test banner

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

18 मई 2018

सेड़वा। पत्थरों में तब्दील हुई सड़के व सुखी हौदियों के मुद्दे छाये रहे बैठक में।

सेड़वा। पत्थरों में तब्दील हुई सड़के व सुखी हौदियों के मुद्दे छाये रहे बैठक में।

सेड़वा से संजय जैन की रिपोर्ट।
बाड़मेर/धनाऊ। सेड़वा उपखण्ड मुख्यालय पर पंचायत समिति सेड़वा की साधारण सभा की बैठक सेड़वा प्रधान पदमाराम मेघवाल की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में बिजली, पानी व सड़क जैसे मुद्दो को लेकर जनप्रतिनिधयों ने जताया आक्रोश जताकर वर्तमान सरकार की कार्य प्रणाली के ढीली होने तथा विकास की गति बाधित होने की बात कही। प्रधान पदमाराम मेघवाल ने बताया कि जनता जल योजना को सरकार ने  ग्राम पंचायत को दिया है। उनके पास संसाधनों की कमी के कारण कई स्कीमें बन्द पड़ी है। सरकार इसे वापिस जलदाय विभाग को सुपुर्द करे ताकि आमजन को पानी की राहत मिले। उन्होंने गर्मी ज्यादा होने की वजह से सेड़वा उपखण्ड में होने वाली बिजली कटौती को रोकने के निर्देश दिये ताकि आमजन गर्मी में राहत मिले।

उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र के 15 किलोमीटर नई सड़क योजना के मापदण्ड नही होने के कारण पैसों का मिसयूज हो रहा हैं। इसी तरह जनप्रतिनिधियों ने विभिन्न ग्राम पंचायतों में गौरव पंथ के बन्द पड़े कार्यों को जल्दी से जल्दी शुरू करने की मांग की जिस पर प्रधान मेघवाल ने जल्द शुरू करने का आश्वासन दिया।

भंवार सरपंच अनन्तराम विश्नोई ने कहा कि हरपालिया से भंवार के बीच 14 किलोमीटर की विद्युत लाइन के कई जगहों पर तार टूटे हुए हैं, जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता हैं।
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जलस्वालंबन अभियान  डीपीआर नही बनी है। ग्राम पंचायत भंवार आंगनवाड़ी केंद्र के लिये भवन ही नही हैं। उन्होंने मांग की कि आंगनवाड़ी भवन की स्वीकृति जल्द दिलवाई जाए ताकि सरकारी योजना का लाभ सबको मिले।

ग्राम पंचायत बिसासर के सरपंच नवाज दर्श ने बैठक में विभिन्न समस्याओं को रखते हुए बताया कि सेड़वा से दीपला, बिसासर से जालीला व तालसर से जालीला जाने वाली सड़के इतनी बिखर गई है कि सड़के पत्थरों में तब्दील हो गई हैं तथा चलने के लायक भी नही हैं। उन्होंने बताया की इस बाबत पहले भी साधारण सभा की बैठक में कई बार अवगत करवाया गया है लेकिन कोई कार्यवाही नही हो रही है।
उन्होंने बताया कि इस तरह पंडित दीनदयाल योजना के अंतर्गत कई परिवार वंचित रह गए है, उनको भी जोड़ा जाये व इस योजना के अंतर्गत जो डिमांड जमा हो चुके है उनका कार्य भी शुरू करवाया जाये। ठेकेदार की लापरवाही से गौरवपंथ सड़क का कार्य अधूरा पड़ा हैं। ठेकेदार मनमानी कर रहा है एवं कार्य शुरू नही कर रहा हैं। उस कार्य को भी शुरू करवाया जाये। कई जगहों पर पानी की हौदियां पानी को तरस रही हैं।

बैठक में सालारिया ग्राम पंचायत के सरपंच शेर खान बलोच ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2016 व 2017 में उसमे पांच लाभार्थी ऐसे जिनकी अभी तक दूसरी क़िस्त भी उनके खाते में नही आई है।  उन्होंने बिजली विभाग पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए कहा कि विभाग के कार्मिक गांव में मीटर की रीडिंग लेने नही आते तथा मनमर्जी से बिजली के बिल जारी कर देते है, जिससे ग्रामवासियों को नुकसान उठाना पड़ रहा हैं। उन्होंने बैठक में रमजान महीने में बिजली कटौती नही करने की मांग की। उन्होंने टूटी सड़कों तथा सुखी जीएलआर का भी मुद्दा उठाया।

बैठक में महिला बाल विकास  सुपरवाइजर सतरामदास ने बताया कि सेड़वा उपखण्ड के लिये 68 नए आंगनवाड़ी केंद्र की स्वीकृति कराने हेतु विभाग के निर्देशालय को प्रस्ताव भिजवाये गए व विधायक एवम प्रधान को  अवगत करवाया जा चुका है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना 2017 की जानकारी देते हुए कहा कि गर्भवती महिला को सरकार 5000 रुपये तक एक बच्चे पर दे रही है। उन्होंने इस योजना के अधिक से अधिक प्रचार करने व लाभ उठाने का आह्वान किया।
बैठक में विभिन्न विभागों के कर्मचारियों सहित विभिन्न ग्राम पंचायतों के सरपंच व  जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages